हाशिया

बीच सफ़हे की लड़ाई

गुनाहों का देवता : 40 की उम्र में 40 अभियोग

Posted by Reyaz-ul-haque on 5/09/2007 01:48:00 AM

शहाबुद्दीन पर अब तक चले कुल मामले
क्र. थाना कांड संख्या, दिनांक धारा
१ सीवान नगर १३४/८५ ,११.५.८५ ३६४, ३६५, ३७९, ३४ आइपीसी (आरोपित)
२. सीवान नगर २१७/ ८५,०२.०९.८५ ३०७,३२३, ३४ आइपीसी, २७ आ एक्ट
३. सीवान नगर २२२/८५, ०९.०९.८५ ३०७, ३४१, ३२३, ३२४, ३४ आइपीसी, २७ आ एक्ट
४. सीवान नगर ०७९/८६, १०.०४.८६ ३९७, ४०२, ४११, ४१२, ४१४, २१६ ए आइपीसी, २५ ए, २६/३५ आ एक्ट
५. सीवान मु २२८/८६, ३१.१२.८६ १४७, १४८, ३२५, ३०२ आइपीसी, २७ आ एक्ट, ५ वि पदार्थ अधि
६. १२.०९.६६ ३०४, ३२४, ३२३, ३४ आइपीसी
७. सीवान नगर ०५७/८९, १९.०३.८९ ३०७, ३०२, ३४ आइपीसी, ३/४ वि पदार्थ अधि
८. सीवान मु ०९१/८९, ०१.०६.८९ ३५३, ३६४, ३०४, ३४ आइपीसी, २७आए
९. मैरवां १३४/८९, २२.११.८९ ३०२, ३४ आइपीसी, ३/४ वि पदार्थ अधि
१०. सीवान मु ०६१/९०,१२.०४.९० ३६३ आइपीसी
११. सीवान नगर २०५/९०, ०३.०९.९० ३६५, ३३७ आइपीसी
१२. सीवान नगर १२९/८५, ०६.०५.८५ ३२४, ३०७, ३४ आइपीसी, २७ आर्म्स एक्ट
१३. सीवान नगर ०७७/८६, ०८.०४.८६ ३०४ आइपीसी (संदिग्ध)
१४. सीवान नगर १८३/८८, १०.०९.८८ ३०७ आइपीसी, २७ आर्म्स एक्ट
१५. हुसैनगंज १८६/९३, ०३.१०.९३ १४७, १४८, १४९, ३३४, ३०७ आइपीसी, २७ आए(आरोपित)
१६. जीरादेई २३९/९३, २३.१२.९३ भाक पा (माले) के तीन समर्थकों की हत्या
१६.पंचरुखी ०६०/९४, २४.०५.९४ १४७, ३२३, ३२७, ३७९ आइपीसी
१७. सीवान नगर १०८/९४, २२.०५.९४ १४७, १४८, १४९, ३२४, ३०७, २७ आए
१८. सीवान नगर १५५/९४, ०७.०८.९४ ३०२, ३०७, ३२४, १२० (बी) आइपीसी
१९. पंचरुखी ००८/९५, २०.१०.९५
२०. सीवान नगर ०११/९६,१८.०१.९६ ३४, ३४२, ३२३, ३०७, ३४ आइपीसी, २७ आए (अनुसंधान में)
२१. हुसैनगंज ०९९/९६, ०२.०५.९६ १४७, १४८, १४९, ३२७, ३०७, ३०२ आइपीसी, २७ आ एक्ट (अनुसंधान में)
२२. आंदर थाना ०३२/९६, ०२.०५.९६ १४७, १४८, १४९, ३०२, ४८६,आइपीसी, आ एक्ट (अनुसंधान में)
२३. आंदर थाना ०३२/९६, ०२.०५.९६ १४७, १४८, १४९,३०७ आइपीसी(अनु में)
२४. दरौली थाना ०३४/९६, ०४.०५.९६ ३०७, ३५३, ३४ आइपीसी, २७ आए, एसपी सिंधाल पर जानलेवा हमला (अनु में)
२५. हुसैनगंज १८८/९६, ०३.०९.९६ ३०२ आइपीसी, माले नेता सुरेंद्र यादव की हत्या
२६. सीवान नगर १३०/९६, २१.०६.९६ थानाप्रभारी संदेश बैठा के साथ मारपीट
२७. सीवान नगर २२४/९६, १८.१०.९६ ३०२ आइपीसी, माले नेता केदार साह की हत्या
२८. सीवान नगर ०५४/९७, ३१.०३.९७ ३०२ आइपीसी चंद्रशेखर-श्यामनारायण यादव क ी हत्या
२९. सीवान मु १८१/९८, १९.०९.९८ १४७, ३२३, ३४१, ३४२, ४४८, ५०४ आइपीसी माले क ार्यालय सीवान पर हमला, केशव बैठा का अपहरण (दो साल कारावास)
३०. सीवान नगर १४५/९८, ०९.०९.९८ १४७, १४८, १४९, ३०७, ३७९, ५०४ आइपीसी, माले के धरना पर हमला
३१. सीवान नगर १४७/९८, ०९.०९.९८ १४७, १४८, १४९, ३०७, ३५३, ३३३, ३७९ आइपीसी
३२. सीवान नगर ०१४/९९, ०५.०२.९९ ३६४/३४ आइपीसी, माले कार्यक र्ता छोटेलाल का अपहरण-हत्या (आजीवन कारावास)
३३. सीवान मु ८/२००१, ०६.०१.०१ ३६९/३४ आइपीसी, रामपूर गांव से मुन्ना चौधरी का अपहरण
३४. हुसैनगंज ३२/२००१, १६.०५.०१ १४७,१४८, ३०७, ३०२, ३३४, ३३५, ३३२, ३३३, ४३५, ४२७, १२०, २५ (१) बी, ए २६/३५
३५. हुसैनगंज ३३/२००१, १६.०५.०१ १४७, १४८, ३०७, ३०२, ३३४, ३३५, ३३२,३३३, ३१५, ४३५, ४२७, १२०, २५ (१) बी, ए २६/३५
३६. हुसैनगंज ३९/२००५ प्रतापपुर कांड
३७. हुसैनगंज ४२/२००५ प्रतापपुर कांड
३८. हुसैनगंज ४३/२००५ प्रतापपुर कांड
३९. हुसैनगंज ४४/२००५ प्रतापपुर कांड
४०. हुसैनगंज ४५/२००५ प्रतापपुर कांड
४१. हुसैनगंज ४८/२००५ प्रतापपुर कांड

Related Posts by Categories



Widget by Hoctro | Jack Book
  1. 1 टिप्पणियां: Responses to “ गुनाहों का देवता : 40 की उम्र में 40 अभियोग ”

  2. By Sanjeet Tripathi on May 9, 2007 at 11:24 PM

    वाह, लगता है आपने शहाबुद्दीन के आपराधिक क्रिया-कलापों पर पूरा रिसर्च ही कर डाला।
    साधुवाद

सुनिए : ऐ भगत सिंह तू जिंदा है/कबीर कला मंच


बीच सफ़हे की लड़ाई


“मुझे अक्सर गलत समझा गया है। इसमें कोई संदेह नहीं होना चाहिए कि मैं अपने देश को प्यार करता हूँ। लेकिन मैं इस देश के लोगों को यह भी साफ़ साफ़ बता देना चाहता हूँ कि मेरी एक और निष्ठा भी है जिस के लिए मैं प्रतिबद्ध हूँ। यह निष्ठा है अस्पृश्य समुदाय के प्रति जिसमे मैंने जन्म लिया है। ...जब कभी देश के हित और अस्पृश्यों के हित के बीच टकराव होगा तो मैं अस्पृश्यों के हित को तरजीह दूंगा। अगर कोई “आततायी बहुमत” देश के नाम पर बोलता है तो मैं उसका समर्थन नहीं करूँगा। मैं किसी पार्टी का समर्थन सिर्फ इसी लिए नहीं करूँगा कि वह पार्टी देश के नाम पर बोल रही है। ...सब मेरी भूमिका को समझ लें। मेरे अपने हित और देश के हित के साथ टकराव होगा तो मैं देश के हित को तरजीह दूंगा, लेकिन अगर देश के हित और दलित वर्गों के हित के साथ टकराव होगा तो मैं दलितों के हित को तरजीह दूंगा।”-बाबासाहेब आंबेडकर


फीड पाएं


रीडर में पढें या ई मेल से पाएं:

अपना ई मेल लिखें :




हाशिये में खोजें